Why We Celebrate Christmas in Hindi

 

Why We Celebrate Christmas in Hindi




Why We Celebrate Christmas in Hindi : दोस्तों! ये तो आप सभी जानते होंगे की 25 दिसम्बर को प्रभु ईसा मसीह का जन्म हुआ था. इस दिन को क्रिसमस डे (christmas day) कहा जाता हैं और पुरे दिसम्बर माह को क्राइस्ट माह के नाम से भी जाना जाता हैं | नए साल की शुरुवात इसी से होती हैं. क्रिसमस शब्द का जन्म क्राइस्ट माई से अथवा क्राइस्ट माह के शब्द से बना हुआ हैं.

ऐसा अनुमान हैं हैं पहला क्रिसमस रोम में 326 ईस्वी में मनाया गया था. यह प्रभु के पुत्र जीसस क्राइस्ट के जन्मदिन को याद करने के लिए पुरे विश्व में 25 दिसम्बर को मनाया जाता हैं. यह ईसाई समुदाय के लिए सबसे महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक हैं. जीसस के जन्म से सम्बंधित एक कथा के अनुसार प्रभु ने मैरी नाम की एक कुंवारी कन्या के गर्भ से जन्म लिया था

प्रभु के द्वारा भेजे गए देवदूत ने मैरी के पास आकर कहा कि “भगवान के पुत्र जीसस इस धरती पर जन्म लेने वाले हैं और प्रभु ने इस काम के लिए आपको चुना” उसके बाद प्रभु का ये देवदूत जोसफ के पास भी गया और उन्हें भी बताया की तुम्हे मैरी नाम की स्त्री से शादी करनी हैं जो प्रभु कके पुत्र को जन्म देने वाली हैं इस तरह उस स्त्री और उसके पुत्र की हिफाज़त भी तुम्हे ही करनी हैं. जोसफ और मैरी नाजरत में रहा करते था,

इसे भी पढे:- Durga Puja

नाजरत आज के इजराईल में हैं तब नाजरत रोमन साम्राज्य में था तत्कालीन रोमन सम्राट अगस्त्य ने जनगणना किये जाने की घोषणा की थी उस समय मैरी गर्भवती थी. प्रत्येक व्यक्ति को बेह्रालम जाकर अपना नाम लिखवाना जरुरी था. इसलिए बेह्तलम में बड़ी संख्या में लोग आये हुवे थे. सारे धर्मशालाए और सार्वजानिक आवास लोगो से पूरी तरह से भरे हुवे थे.

शरण के लिए जोसफ मैरी को लेकर जगह जगह भटकता रहा. जिस रात ईसा मसीह का जन्म हुआ उस रात जोसफ और मैरी व्त्लम की तरफ जा रहे थे. रात ज्यादा होने की वजह से जोसफ एक अस्तबल में जा रुके वही प्रभु के पुत्र जीसस का जन्म हुआ. प्रभु जीसस लोगो की मदद के लिए धरती पर आये थे.

ईसाइयो के लिए यह घटना अत्यधिक महत्वपूर्ण हैं क्यूंकि वो मानते थे की जीसस प्रभु के पुत्र थे इसलिए क्रिसमस उल्लास और ख़ुशी का त्यौहार हैं क्यूंकि उस दिन ईश्वर का पुर कल्याण के लिए इस धरती पर आये थे बस तभी से इस दिन को क्रिसमस डे (christmas day)के रूप में मनाया जाता हैं.


Thanks For Reading KnowAdda


Post a comment

0 Comments